बुधवार, 7 दिसंबर 2016

नोटबंदी से आम आदमी को कोई फायदा मिलता नहीं दिख रहा


नोटबंदी से आम आदमी को कोई फायदा मिलता नहीं दिख रहा है जनता को लग रहा था की अगर काला धन वापस आता है सरकार के पास तो लोन के क़िस्त में कटौती की जायेगी लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है जो लोग  ईएमआई कम होने के आस लगाए बैठे थे उन्हें बड़ा धक्का लगा है.

नई क्रेडिट पॉलिसी का एलान करते हुए उर्जित पटेल  ने रेपो रेट 6.25 फीसदी बरकरार रखा है  इसका सीधा मतलब है की ब्याज दरो में कोई कटौती नहीं की जायेगी साथ ही उर्जित पटेल  ने विकास दर कम होने की बात भी की  नोटबंदी से पहले 7.6 फीसदी विकास दर का अनुमान था जो घटकर  अब 7.1 फीसदी रहने की उम्मीद   है.

रेपो रेट किसे कहते हैं
बैंक एक से तीन दिन के लिए रिजर्व बैंक से कर्ज लेते हैं और इस कर्ज पर रिजर्व बैंक जिस दर से ब्याज वसूलता है उसे रेपो दर कहते है